Showing posts with label OMKARESHWAR. Show all posts
Showing posts with label OMKARESHWAR. Show all posts

Thursday, January 30, 2014

OMKARESHWAR



ओमकारेश्वर ज्योतिर्लिंग दर्शन 

 मुझे मेरी माँ को बारह ज्योतिर्लिंग के दर्शन  कराने हैं जिनमें से इस बार मैं ओम्कारेश्वर एवं महाकाल की तरफ जा रहा हूँ ।  पहली बार मैंने माँ का आरक्षण स्वर्ण जयंती एक्सप्रेस के AC कोच में करवाया था, और मैं जनरल टिकट लेकर जनरल डिब्बे में सवार हो गया, यह ट्रेन सुबह साढ़े आठ बजे आगरा कैंट से चली और रात दस बजे के करीब हम खंडवा पहुँच गए । यहाँ से हमें मीटर गेज की  ट्रेन से ओम्कारेश्वर जाना है जो सुबह जाएगी ।

सर्दी का मौसम था इसलिए कोई तो जगह तलाशनी थी सोने और सर्दी से बचने के लिए, वेटिंगरूम हाउसफुल था इसलिए मीटर गेज की ट्रेन में ही स्थान जमा लिया जिससे हमें सुबह ओमकारेश्वर जाना था ।
अपने नियत समय से ट्रेन भी चल पड़ी और कोटला खेड़ी होती हुई निमारखेड़ी पहुँची । यहाँ मुझे केले की खेती  काफी मात्र में देखने को मिली । सनावद के बाद अगला स्टेशन ओम्कारेश्वर का ही था । यहाँ स्टेशन का नाम ओम्कारेश्वर रोड है यानी की यहाँ से ओम्कारेश्वर के लिए हमें कोई बस या जीप तलाशनी पड़ेगी।

स्टेशन पर काफी देर रुकने के बाद हम स्टेशन के बाहर पहुंचे जहाँ से बस ओम्कारेश्वर जाने के लिए तैयार खड़ी थी । यह स्थान मोरटक्का कहलाता है और स्टेशन के बराबर में ही स्थित है,  बस के जाने से पहले ही यहाँ दो ट्रेनों का क्रॉस हुआ । यहाँ ट्रेनों का आवागमन काफी अच्छा है ।
ओम्कारेश्वर जाने वाला रास्ता काफी रमणीय है और हो भी क्यों न आखिर नर्मदा का किनारा जो था । ओम्कारेश्वर में पहुँचते ही हमें हमारे कुलगुरु श्री जाहरवीर बाबा के दर्शन हुए जो एक ऊँची बिल्डिंग के ऊपर अपने घोड़े पर विराजमान थे। सामने ही माँ नर्मदा के दर्शन करके मन काफी प्रशन्नचित्त हो गया। सामने पहाड़ पर ॐ  बना हुआ था जिससे यह स्थान काफी पावन था।

 नर्मदा में अधिकतर मगरमच्छ और घड़ियाल पाए जाते हैं जिनसे सावधान रहने के लिए यहाँ अनाउंस निरंतर हो रहा था, नर्मदा का जल एकदम स्वच्छ एवं निर्मल था, पुल पार करते समय ही मैंने ओम्कारेश्वर जी का मंदिर देखा  जो नर्मदा के तट से काफी ऊपर स्थित है । यहाँ चलने वाली नौकाएं अन्य नौकाओं से काफी अलग और विचित्र थी। भगवान शिव के बारह ज्योतिर्लिंग में से ओम्कारेश्वर चौथा  ज्योतिर्लिंग है जो मान्धाता पर्वत पर नर्मदा के किनारे स्थित है ।

 
SWARAN JAYANTI EXPRESS STANDING ON AGRA CANTT 

CHAMBAL VAILLY'S
CHAMBAL BRIDGE

A FORT

KHANDWA RAILWAY STATION

खंडवा रेलवे स्टेशन 

खंडवा जंक्शन 

ओम्कारेश्वर जाने वाली ट्रेन 

कोटला खेड़ी रेलवे स्टेशन 

निमारखेड़ी रेलवे स्टेशन  

निमारखेड़ी रेलवे स्टेशन


निमारखेड़ी 

निमारखेड़ी 

सनावद रेलवे स्टेशन 

सनावद रेलवे स्टेशन 

ओम्कारेश्वर की ओर 

 मेरी माँ और ओम्कारेश्वर स्टेशन 










मोरटक्का चौराहा 



मोरटक्का चौराहा 


जय बाबा जाहरवीर गोगाजी 

मेरी माँ और नर्मदा नदी 


ओम्कारेश्वर मंदिर 

नर्मदा बांध 

यहाँ की नौकाएँ 

नर्मदा नदी 

मान्धाता पर्वत 

जय माँ नर्मदे 

निर्मल जल 


नर्मदा स्नान 

नर्मदा ब्रिज 

जय भोलेनाथ 

तीर्थ यात्रा 

जय भोले नाथ 

यहाँ का गुरुद्वारा , जहां गुरु नानक पधारे थे 


जय श्री राम 


ओम्कारेश्वर रेलवे स्टेशन 





एक श्रद्धालु बाबा 


स्टेशन परिसर 


हमारी ट्रेन


अगली यात्रा - मालवा से अवंतिका